वाक्य किसे कहते हैं? वाक्य के भेद vakya kise kehte hain

आज हम वाक्य किसे कहते हैं (vakya kise kehte hain) तथा वाक्य के भेद  के बारे पढ़ेंगे| वाक्य के भेद सभी हिंदी भाषी राज्यों की प्रतियोगी परीक्षाओ में अत्यंत महत्वपूर्ण है। इस Article में हम वाक्य की परिभाषा के बारे में भी जानेंगे। 


वाक्य किसे कहते हैं? vakya kise kehte hain

सार्थक शब्दों के व्यवस्थित समूह को, जिससे कोई अर्थ प्रकट होता हो उसे वाक्य कहते है। 

वाक्य के अनिवार्य तत्व –

वाक्य के 6 अनिवार्य तत्व होते है –
  1. सार्थकता 
  2. योग्यता 
  3. आकांक्षा 
  4. निकता 
  5. पदक्रम 
  6. अन्वय 

वाक्य के अंग –

वाक्य के 2 अंग है –

  1. उद्देश्य – 

 जिसके बारे में बात की जा रही हो उसे उद्देश्य कहा जाता है। जैसे – राम खेलता है। 

      2 .विधेय –  

वाक्य में उद्देश्य के बारे में जो खा जाता है उसे विधेय कहा जाता है। जैसे- राम खेलता है। 

वाक्य के भेद –

वाक्य अनेक प्रकार के हो सकते है पर उनका विभाजन 2 आधारों में किया जाता है –
  1. रचना के आधार पर 
  2. अर्थ के आधार पर 

वाक्य किसे कहते हैं? वाक्य के भेद vakya kise kehte hain

रचना के आधार पर –

रचना के आधार पर वाक्य 3 प्रकार के होते है –

1. सरल या साधारण वाक्य – 

जिस वाक्य में एक क्रिया और एक कर्ता होता है, उसे साधारण या सरल वाक्य कहते है।
 जैसे-राजेश पानी ले आया। 

2. मिश्र वाक्य – 

 जिस वाक्य में एक साधारण वाक्य के अतिरिक्त उसके आधीन कोई दूसरा अंग वाक्य हो उसी मिश्र वाक्य कहते है। 
जैसे- रवि उसी मकान में रहता है जिसमे कभी आचार्य जी रहते थे। 
   

3. संयुक्त वाक्य किसे कहते हैं?

जिस वाक्य में साधारण अथवा मिश्र वाक्यो का मेल संयोजक अवयवों द्वारा होता है, उसे संयुक्त वाक्य कहते है। 
जैसे- शाम को मोहन आएगा और सोहन भी आएगा। 


अर्थ के आधार पर –

अर्थ के आधार पर वाक्य के आठ भेद होते है-

1. विधिवाचक वाक्य –

जिससे किसी बात के होने का बोध हो। 
जैसे- सरल वाक्य- हम खा चुके। 
         मिश्र वाक्य- मै खाना खा चुका, तब वह आया। 
         संयुक्त वाक्य- मैंने खाना खाया और घूमने चला गया। 

2. निषेधवाचक वाक्य –

जिससे किसी बात के होने का बोध न हो। 
जैसे- सरल वाक्य- मै वहाँ नहीं गया। 
         मिश्र वाक्य- मैं कल शहर में नहीं था, इसलिए वह नहीं जा सका।
         संयुक्त वाक्य- मैं वहाँ नहीं गया और इसलिए उससे नहीं मिल सका। 

3. आज्ञावाचक वाक्य-

जिससे किसी प्रकार की आज्ञा का बोध हो। 
जैसे- जाओ, पानी लेकर आओ। 

4. प्रश्नवाचक वाक्य –

जिससे किसी प्रकार के प्रश्न किये जाने का बोध हो। 
जैसे- तुम कहा रहते हो ?

5. विस्मयवाचक वाक्य  –

जिसमे आश्चर्य, दुःख या सुख का बोध हो। 
जैसे- वाह! कितना सुन्दर दृश्य है। 

6. संदेहवाचक वाक्य –

जिससे किसी बात का संदेह प्रकट हो। 
जैसे- अब तक वह दिल्ली पहुँच चुका होगा। 

7. इच्छावाचक वाक्य –

जिससे किसी प्रकार की इच्छा या शुभकामना का बोध हो। 
जैसे- तुम अपने कार्य में सफल रहो। 

8. संकेतवाचक वाक्य –

जहाँ एक वाक्य दूसरे की सम्भावना पर निर्भर हो। 
जैसे- पानी न बरसता तो धान सूख जाता। 

Download PDF for this article –  

FAQs

Q. वाक्य किसे कहते हैं?
Ans. शब्दों का सार्थक योग वाक्य कहलाता है।

Q. संयुक्त वाक्य किसे कहते हैं?
Ans. जिस वाक्य में साधारण अथवा मिश्र वाक्यो का मेल संयोजक अवयवों द्वारा होता है, उसे संयुक्त वाक्य कहते है। 
Join Our Social Media

यदि आप GS पढ़ना चाहतें है तो अभी Social Media पर फॉलो करें

Leave a Comment